Top
Home > छत्तीसगढ़ > वनमंत्री अकबर की पहल ने लाई रंग बालाघाट कलेक्टर ने दिए झामसिंह एनकाउंटर मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश,भूपेश बघेल ने दिए स्वेच्छा अनुदान से परिजनों को दिए 4 लाख रुपये।

वनमंत्री अकबर की पहल ने लाई रंग बालाघाट कलेक्टर ने दिए झामसिंह एनकाउंटर मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश,भूपेश बघेल ने दिए स्वेच्छा अनुदान से परिजनों को दिए 4 लाख रुपये।

वनमंत्री अकबर की पहल ने लाई रंग बालाघाट कलेक्टर ने दिए झामसिंह एनकाउंटर मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश,भूपेश बघेल ने दिए स्वेच्छा अनुदान से परिजनों को दिए 4 लाख रुपये।
X

0 मृतक के परिजनों से कल मिले थे वन मंत्री दिलाया था हर संभव मदद का भरोसा।

ताहिर खान
कवर्धा
- प्रदेश के वनमंत्री मोहम्मद अकबर के आग्रह पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मध्य प्रदेश के पुलिस द्वारा एनकाउंटर में मरने वाले झामसिंह धुर्वे के परिजन को स्वेच्छानुदान मद से 4 लाख रूपए की आर्थिक सहायता राशि स्वीकृत की है। गुरुवार को अपने एक दूसरी प्रवास के दौरान वन मंत्री मोहम्मद अकबर बालसमुंद गांव पहुंचकर मृतक के परिजनों से मुलाकात कर उन्हें हर संभव मदद करने का भरोसा दिलाया था और साथ ही एक लाख रुपये और राशन भी दिया गया। दूसरे दिन भूपेश बघेल ने वन मंत्री के आग्रह के बाद उन्होंने भी स्वेच्छा अनुदान से 4 लाख पीड़ित परिवार को दिए हैं। वही शिवराज सरकार को मंत्री अकबर द्वारा खत लिखने के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मामले को संज्ञान लेते हुए बालाघाट कलेक्टर को जांच करने के लिए कहा, जिसके बाद कलेक्टर ने मजिस्ट्रियल जांच करने का आदेश दिया है। वहीं झामसिंह हत्या मामले पर 302 के तहत भी मामला दर्ज होने की खबर मिली है।

कल अकबर ने दिवंगत की पत्नी को एक लाख रूपए का चेक और राशनकार्ड प्रदान किये थे।

छत्तीसगढ़ के वन, परिवहन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर ने गुरुवार को अपने एक दिवसीय प्रवास के दौरान कबीरधाम जिले के बोडला विकासखण्ड के ग्राम बालसमुंद निवासी दिवंगत झामसिंह ध्रुर्वे के परिजनों से भेंट-मुलाकात कर उनके परिजनों से चर्चा करते हुए संतावना प्रगट की। अकबर ने दिंगवत झामसिंह की पत्नी लग्नी बाई को एक लाख रूपए का आर्थिक मदद करते हुए चेक प्रदान किया। उन्होने छत्तीसगढ़ सार्वभौम (पीडीएस) योजना के तहत राशन कार्ड भी प्रदान किया। मंत्री अकबर ने उनके परिजनों के साथ जमीन पर बैठक कर लंबी चर्चा कर आवश्यक जानकारी भी ली। उन्होने दिंवगत झामसिंह के बेटी हिना, पुत्र नरेन्द्र सिंह, खिलेन्द्र धु्र्वें का हालचाल भी जाना।

बालाघाट कलेक्टर ने दिया है मजिस्ट्रियल जांच के आदेश

मध्यप्रदेश की पुलिस द्वारा अकारण गोली चलाने से जिले के बालसमुंद निवासी झामसिंह की मौत हो गई थी। मौके पर उनके साथ रहे उनके सगे भाई नेम सिंह किन्ही परिस्थितियो में सकुशल बच गया। इस घटना के बाद जिले के आदिवासी समाज ने प्रदेश के वनमंत्री अकबर से भेंट कर इस पूरे घटना की न्यायायिक जांच कराने और दोषियों को विरूद्ध कार्यवाही कराने की मांग की गई। मंत्री द्वारा पूरे घटनाक्रम को संज्ञान में लिया गया इस पूरे मामले में प्रदेश की राज्यपाल सुश्री अनुसूईया उईके से दूरभाष पर चर्चा करते हुए बताया कि कबीरधाम जिला निवासी दो आदिवासी भाइयों पर मध्यप्रदेश पुलिस द्वारा अकारण गोली चलाने से एक आदिवासी की हुई मौत के मामले की जानकारी देकर उनसे हस्तक्षेप करने का आग्रह किया था। वन मंत्री मोहम्मद अकबर ने बताया कि इस मामले को लेकर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री और गृह मंत्री को दो अलग-अलग पत्र लिखे हैं। इसके बाद बालाघाट कलेक्टर ने मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं।

Updated : 18 Sep 2020 12:07 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top