Top
Home > छत्तीसगढ़ > बड़ी ख़बर- भोरमदेव शक्कर कारखाना में फिर मिले 23 संक्रमित मरीज,अब तक 40 कर्मचारियों की कोरोना रिपोर्ट आ चुकी है पॉजिटिव।

बड़ी ख़बर- भोरमदेव शक्कर कारखाना में फिर मिले 23 संक्रमित मरीज,अब तक 40 कर्मचारियों की कोरोना रिपोर्ट आ चुकी है पॉजिटिव।

बड़ी ख़बर- भोरमदेव शक्कर कारखाना में फिर मिले 23 संक्रमित मरीज,अब तक 40 कर्मचारियों की कोरोना रिपोर्ट आ चुकी है पॉजिटिव।
X

0 शक्कर कारखाना के एमडी ने दिखाई सक्रियता, 400 कर्मचारियों का कैंप में कराया जा चुका है टेस्ट।

ताहिर खान
कवर्धा- कोरोना वायरस का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है, आंकड़े दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं और यह डरा देने वाले हैं। शक्कर कारखाना में ही अब तक लगभग 40 कर्मचारी इसकी जद में आ चुके है, वहीं जिला पंचायत में लगभग 35 से अधिक कर्मचारियो की रिपोर्ट पॉजिटिव पाया गया था। इससे पहले पुलिस विभाग व बैंक कर्मी भी बड़ी तादाद में चपेट में आ चुके हैं। आज जिले की बात करें तो अब तक यह आंकड़ा 40 के ऊपर जा चुका है, जिनमें से भोरमदेव शक्कर कारखाना में एक बार फिर कोरोना विस्फोट हुआ है जंहा सोमवार को लगभग 23 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इससे पहले लगभग 20 संक्रमित मरीज शक्कर कारखाना में ही पाए गए थे। हालात बिगड़ने से पहले ही एमडी भूपेंद्र ठाकुर ने कुछ लोगों में प्रारंभिक सिम्टम्स देखने के पश्चात स्वास्थ्य विभाग की मदद से एक कैंप शकर कारखाना में लगवाया, दो चरणों में कर्मचारियो की जांच की गई, पहले चरण में लगभग 20 कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए थे वहीं सोमवार को लगभग डेढ़ सौ से अधिक कर्मचारियों का टेस्ट हुआ जिसमें से 23 कर्मचारियो की पॉजिटिव रिपोर्ट अब तक मिल चुकी है। CG संवाद से बात करते हुए शक्कर कारखाना के एमडी भूपेंद्र ठाकुर ने कहा की शकर कारखाना में छत्तीसगढ़ के अलग-अलग जिलों के अलावा प्रदेश से बाहर के भी कुछ कर्मचारी काम करते हैं जिनका टेस्ट कराया जाना अनिवार्य था कुछ लोगों में शुरुआती दौर में सिम्टम्स दिखे थे, जिसके बाद टेस्ट कराया गया, अब तक लगभग 40 से अधिक कर्मचारियो की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। फिलहाल कारखाना में 450 के लगभग कर्मचारी कार्यरत है और इनमें से 400 लोगों की जांच हो चुकी है महज 50 लोग टेस्ट कराने के लिए बच गए हैं, जिनका एक दो रोज में उनका भी टेस्ट करा लिया जाएगा। राहत की बात यह है कि जितने भी अभी कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं लगभग की स्वास्थ्य स्थिति सामान्य है। शुरुआती दौर में कर्मचारियों में टेस्ट को लेकर डर देखा गया था लेकिन बाद में एक दूसरे की हिम्मत देखकर सभी कर्मचारी स्वयं आगे आकर अपना टेस्ट कराएं और यह संभव हो पाया अब जो कर्मचारी संक्रमित आए हैं उन्हें होम आइसोलेशन की सलाह दी गई है जिनकी तबीयत थोड़ी ठीक नहीं है उन्हें महाराजपुर COVID सेंटर ले जाया जा सकता है।

Updated : 14 Sep 2020 12:17 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top