Top
Home > छत्तीसगढ़ > वनांचल में हलचल- झामसिंह कथित मुठभेड़ मामले ने पकड़ा तूल,मजिस्ट्रियल जांच का हुआ आदेश, जनजाति आयोग भी कर रहा मामले की जांच।

वनांचल में हलचल- झामसिंह कथित मुठभेड़ मामले ने पकड़ा तूल,मजिस्ट्रियल जांच का हुआ आदेश, जनजाति आयोग भी कर रहा मामले की जांच।

वनांचल में हलचल- झामसिंह कथित मुठभेड़ मामले ने पकड़ा तूल,मजिस्ट्रियल जांच का हुआ आदेश, जनजाति आयोग भी कर रहा मामले की जांच।
X

0 बालाघाट कलेक्टर ने दिए मजिस्ट्रियल जांच के आदेश।
0 6 सितंबर को मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सीमा में झामसिंह का पुलिस की गोली से हुई थी मौत।

ताहिर खान
कवर्धा - आदिवासी झामसिंह को कथित रूप से नक्सली बताकर मध्य प्रदेश की पुलिस ने 6 सितंबर को छत्तीसगढ़ के बॉर्डर से लगे गढ़ी के जंगलों में गोली मार दिया था, जबकि एक साथी नेमसिंह बचकर झलमला थाना के अंतर्गत शीतलपानी के आश्रित ग्राम बालसमुंद पहुंच कर पूरी व्यथा ग्रामीणों को बताया, उसके बाद मामला थाने तक पहुंचा, लेकिन मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की पुलिस से बहुत ज्यादा ग्रामीणों को सहयोग नहीं मिल पाया खबर प्रकाशित होने के बाद राजधानी तक हलचल मची, आनन-फानन में अनुसूचित जनजाति आयोग ने मामले को संज्ञान लिया और अध्यक्ष और सचिव तुरंत ही जांच के लिए कवर्धा पहुंच गए। वहीं दूसरी ओर बालाघाट के कलेक्टर दीपक आर्य मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं इस जांच का जिम्मा मैहर के अपर कलेक्टर शिव गोविंद मरकाम सौंपा गया है जो जल्द ही मामले की जांच कर रिपोर्ट सौंपेंगे वही छत्तीसगढ़ अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नितिन पोटाई भी कवर्धा पहुंच चुके हैं और इन 2 दिनों में समाज प्रमुखों एवं परिवार के लोगों से मुलाकात कर हर पहलू में जांच करने के पश्चात भूपेश सरकार को जांच रिपोर्ट सौंपेंगे।

विपक्ष से अभी तक नहीं आई प्रतिक्रिया

जिले में इतनी बड़ी घटना घटित हो जाती है। परिवार और गांव के लोग इसे जानबूझकर की गई हत्या बता रहे हैं। ऐसे में एक आदिवासी के मौत मामले को लेकर विपक्ष अभी भी मौन धारण किया हुआ है।

क्या था मामला

बालाघाट के गढ़ी थाना क्षेत्र अंतर्गत सुपखार जंगल के बांसबेहरा में 06 सितंबर को पुलिस औऱ नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी. दोनों तरफ से जमकर के राउंड फायरिंग हुई थी. सुबह इसी स्थान पर सर्चिंग के दौरान एक शख्स की लाश मिली. मृतक की पहचान छत्तीसगढ़ कबीरधाम जिले के झलमला थाना क्षेत्र अंतर्गत शीतलपानी के आश्रित गॉव बालसमुंद में रहने वाले 45 साल के झामसिंह के रूप में हुई. गढ़ी थाना में मुठभेड़ को लेकर अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

Updated : 11 Sep 2020 8:30 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top