Top
Home > छत्तीसगढ़ > आदिवासी झामसिंह मुठभेड़ मामले में अनुसूचित जनजाति आयोग ने लिया संज्ञान, मामले की जांच करने पहुंचे अध्यक्ष नितिन पोटाई व सचिव।

आदिवासी झामसिंह मुठभेड़ मामले में अनुसूचित जनजाति आयोग ने लिया संज्ञान, मामले की जांच करने पहुंचे अध्यक्ष नितिन पोटाई व सचिव।

आदिवासी झामसिंह मुठभेड़ मामले में अनुसूचित जनजाति आयोग ने लिया संज्ञान, मामले की जांच करने पहुंचे अध्यक्ष नितिन पोटाई व सचिव।
X

0 समाज प्रमुखों से मिल कर लेंगे घटना की जानकारी पीड़ित परिवार से मिलने जाएंगे बालसमुंद गांव।

ताहिर खान
कवर्धा - मध्य प्रदेश के गढ़ी पुलिस द्वारा कथित रूप से फर्जी मुठभेड़ में नक्सली बताते हुए जिले के झलमला थाना के अंतर्गत बालसमुंद गांव के आदिवासी झामसिंह को गोली मारकर हत्या करने का मामला अब तूल पकड़ने लगा है। घटना की जानकारी भूपेश सरकार तक पहुंच गई है। वहीं इस मामले को संज्ञान में लेते हुए अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष नितिन पोटाई व सचिव एक के सिंह उइके इस मामले की जांच के लिए कवर्धा पहुंच चुके हैं, दो दिवसीय अपने प्रवास के दौरान समाज प्रमुखों से मामले की जानकारी लेंगे साथ ही पीड़ित परिवार से मिलने के लिए बालसमुंद गांव पहुंचेंगे।

मामले की होगी उच्चस्तरीय जांच

CG संवाद न्यूज़ से बात करते हुए अध्यक्ष नितिन पोटाई ने कहा कि मामले की उच्च स्तरीय जांच की जाएगी, साथ ही एमपी पुलिस के द्वारा किन परिस्थितियों में गोली चलाई गई, इसके अलावा जांच का विषय यह भी रहेगा कि मृतक का बैकग्राउंड क्या है, मध्य प्रदेश की सीमा क्षेत्र में क्यों गया था,परिवार की आर्थिक स्थिति का भी जायजा लिया जाएगा। अनेक बिंदुओं पर जांच के पश्चात है आगे की भूमिका तय होगी। सरकार इस मामले को लेकर गंभीर है।

नितिन पोटाई

Updated : 10 Sep 2020 3:32 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top