Top
Home > छत्तीसगढ़ > आज शहर में फिर मिले 12 मरीज,जिले में 44 मरीज संक्रमित, होम आइसोलेशन के लिए राज्य सरकार ने जारी किए नया गाइडलाइन, 3BHK की अनिवार्यता खत्म।

आज शहर में फिर मिले 12 मरीज,जिले में 44 मरीज संक्रमित, होम आइसोलेशन के लिए राज्य सरकार ने जारी किए नया गाइडलाइन, 3BHK की अनिवार्यता खत्म।

आज शहर में फिर मिले 12 मरीज,जिले में 44 मरीज संक्रमित, होम आइसोलेशन के लिए राज्य सरकार ने जारी किए नया गाइडलाइन, 3BHK की अनिवार्यता खत्म।
X

0 कवर्धा ग्रामीण से 05 शहर से 12, पिपरिया से 05 बोड़ला क्षेत्र से 11, सहसपुर लोहारा से 04 वहीं पंडरिया क्षेत्र से 12 मरीज संक्रमित मिले है।

0 कलेक्टर रमेश शर्मा ने कोविड मरीजों के लिए दवा वितरण, चिकित्सकीय परामर्श के लिए तत्काल टीम गठित करने का निर्देश।

ताहिर खान

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने आयुष विभाग की मार्गदर्शिका का करें प्रचार

कवर्धा- कोरोनावायरस घटने के बजाय दिन-ब-दिन और बढ़ता जा रहा है जिले में आज 44 मरीजों को संक्रमित पाया गया वहीं शहर में यह आंकड़ा 12 के करीब रहा शहर का लगभग हर मोहल्ला कंटेनमेंट जोन में बदल चुका है लेकिन लोगों की आवाजाही अभी भी बदस्तूर चालू है, वहीं दूसरी ओर प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच गत दिनों सीएम भूपेश बघेल ने मंत्रियों के साथ हालातों की समीक्षा कर अनेक निर्णय लिए। कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए होम आइसोलेशन के लिए थ्री बीएचके की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है। नई गाइडलाइन के अनुसार बाथरूम साथ अलग कमरे वाले घरों को होम आइसोलेशन की अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा मरीज के परिजनों को भी दवाइयों की किट दी जाएगी। सी एम भूपेश बघेल द्वारा दिये गए निर्देशों को बताते हुए जिला कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने कहा कि जिलों में मरीजों के बेहतर उपचार की व्यवस्था की जाए। इसके लिए निजी अस्पतालों की सेवाएं भी लेने के लिए कार्ययोजना बना लें। उन्होंने निजी अस्पतालों के लिए निर्धारित दर को भी लागू कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोराेना से बचाव के लिए लगातार प्रचार-प्रसार करें, अस्पताल में भर्ती मरीजों का मनोबल बढ़ाएं, चिकित्सक अस्पताल के वार्डों में नियमित राउंड लगाएं। जिन परिवारों के एक-दो सदस्य कोरोना संक्रमित हो चुक हैं उनके अन्य सदस्यों को बिना कोरोना जांच के प्रॉफिलैक्टिक ड्रग किट दिया जाए और उन्हें दवाओं के इस्तेमाल की पूरी जानकारी दी जाए। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को टेलीमेडिसीन व्हाट्सअप कॉलिंग के माध्यम से चिकित्सकीय परामर्श दिया जाए।
हार्ट, किडनी, लीवर, हाई ब्लड प्रेशर, हाई शुगर से पीड़ित मरीजों को अस्पताल में भर्ती करवाकर उनका इलाज किया जाए। कलेक्टर श्री शर्मा ने कोरोना से बचाव के लिए जागरुकता लाने पाम्पलेट, हैंडबिल बांटने के लिए भी निर्देश दिया है।

शहरी क्षेत्र से 12 जिसमे गुप्ता पारा 1 ,वार्ड नंबर आठ 1,वार्ड नंबर सत्ताईस 1,वार्ड नंबर तेरह 3,वार्ड नंबर ग्यारह 1,वार्ड नंबर बारह 2,पुलिस लाइन 2,छीरपानी कॉलोनी 1 नये धनात्मक मरीज पाये गये।


जिला कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने आयुष विभाग द्वारा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु जारी किए गए मार्गदर्शिका के अनुरूप रोजना दिनचर्या अपनाने की अपील भी जनता से की है। उन्होंने काढ़ा, चूर्ण का वितरण करने तथा कोराेना से जुड़ी दवाओं की कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

गंभीर मरीजों को ही बड़े अस्पतालों में भेजें


कलेक्टर ने कहा कि बिना लक्षण वाले मरीजों का इलाज जिले में ही किया जाए और गंभीर बीमारी वालों को ही बड़े अस्पतालों में रिफर किया जाए।

Updated : 10 Sep 2020 2:22 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top