Top
Home > छत्तीसगढ़ > जिला अस्पतालों में आपातकालीन कोरोना परीक्षण की व्यवस्था करे राज्य सरकार, महामारी के विकराल रूप लेने पर सांसद संतोष पांडेय ने जताई चिंता।

जिला अस्पतालों में आपातकालीन कोरोना परीक्षण की व्यवस्था करे राज्य सरकार, महामारी के विकराल रूप लेने पर सांसद संतोष पांडेय ने जताई चिंता।

जिला अस्पतालों में आपातकालीन कोरोना परीक्षण की व्यवस्था करे राज्य सरकार, महामारी के विकराल रूप लेने पर सांसद संतोष पांडेय ने जताई चिंता।
X

0 दुर्घटना के बाद भर्ती और ईलाज़ के दौरान हुए मौत के बाद परिजन को शव देने में भी हो रहा विलंब।

ताहिर खान

कवर्धा- राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र के सांसद संतोष पांडेय ने कोरोना महामारी के विकराल रूप लेने पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने आम नागरिकों से शासन-प्रशासन के सहयोग करने के निवेदन के साथ ही गैर कोरोना संक्रमित मरीजों के त्वरित उपचार हेतु जिला चिकित्सालयों में आपातकालीन परीक्षण की मांग की है।
सांसद पांडेय ने आम नागरिको से अपील की है कि घर पर रहकर स्वयं तथा परिजनों को सुरक्षित रखा जा सकता है। जिससे कोरोना की आशंका भी कम होगी व शक के आधार में पर लम्बी लाइन में लग कर कोरोना जाँच कराने से भी मुक्ति मिलेगी | नागरिको को जानना चाहिए कि रैपिड-एन्टीजेन या आरटीपीसीआर जैसे परीक्षणों में शासन को ढाई से चार हजार तक प्रति परिक्षण खर्च आता है। भले ही वह पीड़ित के जेब से न लगे, किन्तु शासन का पैसा भी हमारा ही है | अनावश्यक परीक्षण के स्थान पर आवश्यक मरीज के हित में वह परीक्षण होगा | जिसका बोझ हम घर पर रहकर कम कर सकते है | साथ ही केवल दुर्घटनाग्रस्त या अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों के शंका होने की स्थिति में कोरोना परीक्षण की आपातकालीन व्यवस्था न केवल राजनांदगांव तथा कबीरधाम वरन पूरे प्रदेश के जिला चिकित्सालयों में करनी चाहिए | जिससे दुर्घटनाग्रस्त या गैर कोरोना मरीजों का त्वरित उपचार हो सके | साथ ही दुर्भाग्य वश मृत्यु हो जाने पर उनके शव शीघ्रता से उनके परिजनों को सौपा जा सके।
जब सामान्य स्थिति में शासन ने रैपिड-एन्टीजेन या आरटीपीसीआर की व्यवस्था की हुई है तो आपातकालीन व्यवस्था तो जिला अस्पतालों में शासन को पूर्व में ही कर लेना था। सांसद ने समस्त लोगों से पुनः अवाह्वान किया है कि जीवन होगा तो आकांक्षाये कोरोना काल के बाद भी पूरी हो जाएगी | अतः अनावश्यक रूप से घर से बहार न निकले | शासन के दिशा निर्देशों का पालन, स्वयं तथा परिजनों का ध्यान रखे |

Updated : 8 Sep 2020 12:27 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top