Top
Home > छत्तीसगढ़ > BIG BREAKING- कोरोना का सर्जिकल स्ट्राइक,बाजार से घर के भीतर पहुंचा वायरस, प्राइमरी कांटेक्ट में आने वाले घर के सदस्य हुए पॉजिटिव, स्तिथि विस्फोटक।

BIG BREAKING- कोरोना का सर्जिकल स्ट्राइक,बाजार से घर के भीतर पहुंचा वायरस, प्राइमरी कांटेक्ट में आने वाले घर के सदस्य हुए पॉजिटिव, स्तिथि विस्फोटक।

BIG BREAKING- कोरोना का सर्जिकल स्ट्राइक,बाजार से घर के भीतर पहुंचा वायरस, प्राइमरी कांटेक्ट में आने वाले घर के सदस्य हुए पॉजिटिव, स्तिथि विस्फोटक।
X

0 शहर के अंदर से 21 मरीजों के टेस्ट पॉजिटिव।
0 दिन रात लोगों की सेवा में जुटे एक डॉक्टर भी आया कोरोना की चपेट में।

ताहिर खान
कवर्धा- कोरोना वायरस के कहर ने कबीरधाम जिले को अपने जद में ले लिया है, स्थिति बेहद विस्फोटक हो चुकी है. गांव से लेकर शहर तक दिन-ब-दिन आंकड़े बेहद डरावने होते जा रहै है। आज बाजार क्षेत्र में कोरोना का विस्फोट हुआ है, जहां 21 लोग सीधे तौर पर प्रभावित हो गए हैं , घर के एक सदस्य की लापरवाही के चलते कई सदस्य भी इसके चपेट में आ गए हैं, अभी स्थिति और भी बिगड़ने की संभावना बताई जा रही है। आजाद चौक, विक्की वीडियो गली से लेकर पूरा नवीन बाजार क्षेत्र कोरोना वायरस संक्रमण में घिर चुका है । जैसे-जैसे टेस्ट रिपोर्ट आती जा रही है वैसे-वैसे आंकड़े भी बेहद तेजी के साथ बढ़ रहे हैं आज शहर में 21 लोगों को कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया है जिसमें से अधिकतर घर के सदस्यों के प्राइमरी कांटेक्ट में आने वाले लोग हैं। शहर में कोरोनावायरस को लेकर डर बिल्कुल खत्म सा हो गया था लोग बेखौफ होकर बिना मास्क के सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते हुए घूम रहे थे, और बेबाकी के साथ व्यापारी व्यापार कर रहे थे बाहर से खरीदी भी बेधड़क जारी थी साथ ही अन्य राज्यों के अलावा जिलों से व्यापारिक लेन-देन बेख़ौफ़ किया जा रहा था, प्रतिदिन वाहन बाजार क्षेत्र में लोड -अनलोड हो रहे थे , मामला अब बेकाबू होता जा रहा है तब लोगों को परिवार की सुरक्षा की चिंता सता रही है अगर पहले ही इसकी चिंता कर लेते तो आज यह नौबत नहीं आती अभी बाजार क्षेत्र सबसे अधिक प्रभावित है और संभावना है यह जताई जा रही है कि आंकड़ा रोज ही बढ़ेगा खासकर नवीन बाजार के आसपास क्षेत्र में यह आंकड़ा बढ़ने की संभावना जताई जा रही है इसके अलावा पोड़ी और कुकदूर क्षेत्र से भी कोरोनावायरस पॉजिटिव मिले हैं।

ग्रामीणों की जागरूकता काम आई

ग्रामीणों ने कोरोनावायरस के फैलाव को देखते हुए गांव के अंदर जो फैसले लेकर तुरंत ही सोशल डिस्टेंसिंग वह गांव के अंदर या बाहर आने-जाने की इजाजत नहीं देने का फैसला आज सुरक्षा बनकर खड़ा हुआ है ग्रामीण इलाकों में कोरोनावायरस का प्रकोप धीरे-धीरे कम होता जा रहा है लेकिन बेतरतीब और बेपरवाह शहरी क्षेत्र के लोगों ने कोरोना वायरस को जैसे स्वयं ही आमंत्रण देते हुए नजर आ रहे हैं, हर जगह अभी भी भीड़ दिख रही है सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही है।

नहीं होगा पूर्ण लॉकडाउन

कलेक्टर रमेश शर्मा ने CG संवाद न्यूज़ से बात करते हुए बताया कि केंद्र सरकार के गाइडलाइन के मुताबिक पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा नहीं हो पाएगी प्रभावित क्षेत्र को ही लॉकडाउन किया जा सकता है वह भी जब उस इलाके से 5 या 5 से अधिक संक्रमित मरीज मिले तब, पूरे शहर को लॉकडाउन नहीं किया जा सकता, लोगों को अपनी जिम्मेदारियां खुद समझनी होगी अपने परिवार की चिंता करनी होगी, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा, साथ ही बिना मास्क के घर से बाहर ना निकले सब के सहयोग से ही इस महामारी से विजय प्राप्ति होगी।

डॉक्टर हुआ संक्रमित।

एक ऐसा डॉक्टर जो दीन दुखियों के लिए 24 घंटा सेवारत रहता है शहर में टेस्ट कराने का सिलसिला अपने संबंधों के आधार पर इसी डॉक्टर ने बीड़ा उठाया था जिसके चलते लोगों में टेस्ट कराने का जज्बा बढ़ा और आंकड़े आए और उनका इलाज जल्द से जल्द शुरू हो सका, लेकिन अब बुरी खबर यह है कि यह डॉक्टर भी लोगों की सेवा करते करते खुद इसकी चपेट में आ चुके हैं।

Updated : 30 Aug 2020 4:27 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top