Top
Home > Breaking News > जिले में पहुंची ट्रू नेट मशीन आधे घंटे में मिलेगी कोरोना वायरस टेस्ट रिपोर्ट, माना जाता है सटीक रिपोर्ट।

जिले में पहुंची ट्रू नेट मशीन आधे घंटे में मिलेगी कोरोना वायरस टेस्ट रिपोर्ट, माना जाता है सटीक रिपोर्ट।

जिले में पहुंची ट्रू नेट मशीन आधे घंटे में मिलेगी कोरोना वायरस टेस्ट रिपोर्ट, माना जाता है सटीक रिपोर्ट।
X

0एंटीजन टेस्ट के बाद अब जिले में ट्रू नेट टेस्ट की सुविधा भी आरम्भ

0 जिले में फिर मिले 7 कोरोना संक्रमित मरीज, पंडरिया ब्लाक के बघामुडा गांव से 6, एक कवर्धा शहर से।

ताहिर खान/कवर्धा-कोरोना को फैलने से रोकने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों का टेस्ट करके मरीजों की पहचान कर उन्हें आईसोलेट करना सबसे बड़ा समाधान है। कोरोना के संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से जांच की सुविधा को बढ़ाते हुए राज्य शासन द्वारा जिलों में एंटीजन के साथ अब ट्रू नेट टेस्टिंग सुविधा के लिए अनुमति प्रदान कर दी गई है।
उक्त सुविधा का गत शनिवार को शुभारंभ जिला अस्पताल परिसर स्थित टीबी जांच केंद्र के समीपस्थ स्थिति भवन में कर दिया गया है। इस अवसर पर पंडरिया विधायक ममता चंद्राकर, जिला कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा, जिला पंचायत सीईओ विजय दयाराम, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुरेश कुमार तिवारी, नगरपालिका अध्यक्ष ऋषि शर्मा समेत अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे। कलेक्टर श्री शर्मा ने इस सम्बंध में बताया कि टेस्टिंग फैसिलिटी को बढ़ाने के लिए राज्य शासन ने एंटीजन के बाद अब ट्रूनेट की सुविधा दे दी है। उएंटीजन टेस्ट सिर्फ 30 मिनट में परिणाम दे सकता है। इसके पश्चात अब ट्रू नॉट टेस्ट भी आरम्भ हो गया है। सीएमएचओ डॉ तिवारी ने ट्रूनेट टेस्टिंग के बारे में बताया कि
आरटी-पीसीआर के सिद्धांत पर यह भी कार्य करती है और बेहद कम समय में बेहतर और सटीक परिणाम देने के लिए मशहूर है। एलाइजा टेस्ट की तरह इसका इस्तेमाल भी टीबी व एचआईवी के लिए किया जाता रहा है। करीब एक घंटे के अंदर ही टेस्ट के रिजल्ट दे देती है।

अब लक्षण रहित कोरोना मरीजों को किया जा रहा है होम आईशोलेट


राज्य शासन द्वारा कोरोना नियंत्रण के लिए गाइडलाइन अपडेट किया गया है। इसके अनुसार ऐसे मरीज जो किसी लम्बी या स्थायी बीमारी से ग्रसित नही हैं, जिन्हें किसी भी प्रकार से कोरोना का लक्षण नही है व जिस मरीज के घर पर अटैच लेट बाथ की सुविधा है ऐसे कोरोना संक्रमित व्यक्तियों को इनके घर पर ही आइसोलेट किया जा रहा है।

सर्दी, खाँसी व बुखार के लक्षण वाले मरीजों को कोरोना जांच कराना अनिवार्य


जिला कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने सर्दी, खाँसी व बुखार वाले व्यक्तियों को अनिवार्य रूप से कोरोना जांच कराने को कहा है। ऐसा नही करने वालों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की चेतावनी भी उन्होंने दी है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए सबकी जागरूकता और सहयोग जरूरी है। किसी एक की लापरवाही से पूरे समाज को खतरा हो सकता है इसलिए लापरवाही करने की बजाए स्वयं जागरूक होकर सम्बन्धित व्यक्ति स्वयं कोरोना जांच के लिए आएं।

Updated : 16 Aug 2020 2:26 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top