Top
Home > छत्तीसगढ़ > शख्सियत-मिलिए एक अनोखे कोरोना योद्धा अख़्तर हुसैन से जो तिरंगा लिए रोजाना 3 घंटे पैदल चलकर कोरोना से बचाव का देते है संदेश।

शख्सियत-मिलिए एक अनोखे कोरोना योद्धा अख़्तर हुसैन से जो तिरंगा लिए रोजाना 3 घंटे पैदल चलकर कोरोना से बचाव का देते है संदेश।

शख्सियत-मिलिए एक अनोखे कोरोना योद्धा अख़्तर हुसैन से जो तिरंगा लिए रोजाना 3 घंटे पैदल चलकर कोरोना से बचाव का देते है संदेश।
X

0 22 मार्च से रोजाना कपड़े में जागरूकता संदेश वाला पोस्टर लगाकर निकलते है सड़क पर।

ताहिर खान
कोरोना वायरस के क़हर से पूरा विश्व सिहर उठा है, करोड़ों लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं और ना जाने कितने मरीज अपनी जान गवा चुके हैं। ऐसे गंभीर संक्रमणकाल में डॉक्टर,पुलिस व सफाइकर्मी के अलावा ऐसे कई अनजान हीरो है जो कोरोना योद्धा के रूप में समाज में जागरूकता फैलाने में अपना अहम योगदान दे रहे हैं ताकि कोरोना वायरस संक्रमण से बचा जा सके, मिलिए ऐसे ही एक कोरोना योद्धा अख़्तर हुसैन से जो की तेलीबांधा निवासी है, जिनकी उम्र तकरीबन 60 वर्ष है। अख्तर हुसैन लॉकडाउन काल के 22 मार्च से ही रोजाना 3 घंटे पैदल घूमते है और लोगो को कोरोना से बचे रहने का संदेश देते है एक अनोखे अंदाज़ में। वे खुद के कपड़ो पर पोस्टर लगाए, मास्क,ग्लव्ज पहने, हाथों में तिरंगा,सर पर साफा पहने गली-गली,चौक- चौराहों में घूम कर लोगो को जागरूक कर रहे है। अख़्तर हुसैन जी का कहना है कि कोरोना किसी भी उम्र वाले व्यक्ति को हो सकता है तो क्यों सिर्फ बच्चे व बुज़ुर्ग ही अपना ध्यान रखे हम सब को अपना ध्यान रखना होगा, हम सब को इस वैश्विक महामारी से लड़ना है तो आइए हम सब मिल कर इस बीमारी को हराये और फिर से एक खुशहाल देश बन जाएं। एक छोटा सा प्रयास आगे शायद बड़ा बदलाव ला सकता है। आप सभी घर पर रहे,जरूरी हो तो ही बाहर निकले,यदि बाहर जा रहे है तो पूरी सावधानी बरते। खुद भी स्वस्थ रहे और दुसरो को भी स्वस्थ रहने की सलाह दे। अख्तर हुसैन जैसे बहुत कम लोग ही हैं जो अपने आप को खतरे में डालकर लोगों की जान बच सके इसलिए रोज जागरूकता फैलाने में अपनी अहम भूमिका अदा करते हैं ऐसे कोरोना योद्धाओं को दिल से सलाम है।

हांथो में तिरंगा लिए अख़्तर हुसैन

Updated : 16 Aug 2020 1:13 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top