Top
Home > छत्तीसगढ़ > दूसरी महिला को बैंक भेजकर फर्जी दस्तावेज के सहारे निकाले थे KCC लोन, 5 साल बाद हुआ पर्दाफाश।

दूसरी महिला को बैंक भेजकर फर्जी दस्तावेज के सहारे निकाले थे KCC लोन, 5 साल बाद हुआ पर्दाफाश।

दूसरी महिला को बैंक भेजकर फर्जी दस्तावेज के सहारे निकाले थे KCC लोन, 5 साल बाद हुआ पर्दाफाश।
X


0 धोखाधडी करने वाले एक महिला सहित तीन पुरुष आरोपीयों को गिरफ्तार कर भेजा गया जेल।
0आरोपियों ने जाली दसतावेज बनाकर 1 लाख 65 हज़ार फर्जी लोन लिया था।

ताहिर खान

कवर्धा- फ्रॉड करने के तरीके लगातार शातिरों के द्वारा बदलते रहते हैं, कभी ऑनलाइन तो कभी जाली दस्तावेज के आधार पर लोगों को लाखों की चपत लगा रहे हैं।ऐसा ही एक मामला 5 वर्ष पूर्व भी आया था जहां एक महिला के नाम से फर्जी दस्तावेज तैयार कर बैंक से केसीसी लोन ले लिया गया था जिसकी 5 वर्ष जांच के पश्चात पुलिस ने एक महिला सहित तीन पुरुष को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है
इस मामले का खुलासा तब हुआ जब कुंडा थाना क्षेत्र के सोमनापुर निवासी भागो भाई के घर में बैंक नोटिस आया, जिसमें यह मांग किया गया कि उनके द्वारा लिए गए 165000 रुपए को जमा कराया जाए जिसके बाद भागो भाई घबरा गई बताया गया कि उनके द्वारा तो कोई लोन लिया ही नहीं गया है। पंडरिया स्थित इलाहाबाद बैंक में जाकर दस्तावेज चेक किया गया जहां पुलिस को मामला संदिग्ध लगा भागो बाई के दिए आवेदन पर जांच करते हुए बैंक कर्मी से लेकर पीड़ित तक पूछताछ की गई और दस्तावेज को खंगाले गए जिसके बाद पता चला कि तमाम दस्तावेज व हस्ताक्षर फर्जी हैं। पुलिस बयान के आधार पर आरोपियों तक अंततः पहुंची और गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

राशन कार्ड, सील,मोहर को जलाकर किया नष्ट, भगवती को बताया गया भागो बाई

आरोपी मथुरा प्रसाद सतनामी, कौशल बर्मन, विद्याचरण ऊर्फ प्रकाश जांगडे, भगवती बाई सभी मिलकर भागो बाई की जमीन का नक्शा खसरा निकालकर फर्जी सील मोहर बनवाकर फर्जी राशन कार्ड, परिचय पत्र, जमीन की पर्ची तैयार कर फर्जी हस्ताक्षर के आधार पर भगवती बाई को भागो बाई बनाकर ईलाहाबाद बैंक शाखा पण्डरिया से KCC लोन 16,5000 रूपये निकाल लिए साथ ही और राशन कार्ड, सील,मोहर को जलाकर नष्ट कर दिया गया। उपरोक्त सभी आरोपियों के द्वारा धारा 420,467,68,471,201,34 भादवि के तहत गिरफ्तार कर ज्यूडिशियल रिमाण्ड भेज दिया गया। इसमें थाना प्रभारी प्रशिक्षु डी.एस.पी.निमितेश सिंह,उप निरीक्षक नरेन्द्र साहू, उप निरीक्षक प्रताप सिंह ठाकुर, सहायक उप निरीक्षक चिन्ताराम देशमुख, आरक्षक अरूण बघेल, आरक्षक चंद्रशेखर चंद्राकर, आरक्षक कोमल किशोर, नगर सैनिक रवि राजपूत एवं महेन्द्र राजपूत का सराहनीय योगदान रहा।

Updated : 27 July 2020 10:44 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top