Top
Home > Breaking News > कुछ घंटों में कवर्धा जिला में प्रवेश करेगा टिड्डियों का दल, किसानों के माथे पर चिंता की लकीर।

कुछ घंटों में कवर्धा जिला में प्रवेश करेगा टिड्डियों का दल, किसानों के माथे पर चिंता की लकीर।

कुछ घंटों में कवर्धा जिला में प्रवेश करेगा टिड्डियों का दल, किसानों के माथे पर चिंता की लकीर।
X

0 छुईखदान से राजनांदगांव के प्रशासनिक अमला ने पटाखा फोड़ कर टिड्डी दल को भगाया, दल का रुख जिले की ओर।

ताहिर खान

कवर्धा-कोरोना वायरस का कहर पूरा देश में बरपा हुआ है वहीं अब दूसरी ओर एक और बड़ी आफत आ गई है। टिड्डियों का दल कुछ ही घंटों में जिले के सीमा क्षेत्र में प्रवेश करने वाला है।जिसके चलते किसानों के माथे पर चिंता की लकीर खींच गई है। फसलों की सुरक्षा को लेकर किसान व प्रशासनिक अमला सजग हैं साथ ही चिंतित भी हैं कि आखिर इनसे कैसा निपटा जाए और यह दल कितना किसानों की फसलों (सब्जी)और हरियाली को नुकसान पहुंचा सकते हैं टिड्डी दल को छुईखदान के पास मौजूद गांव में देखा गया है , जहां प्रशासनिक अमला पहुंचकर फटाका फोड़कर व टीन बजाकर दल को वहां से भगा तो जरूर दिया है लेकिन अब यह दल कुछ ही घंटों में कबीरधाम जिले की सीमा क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं। करोड़ों की तादाद में टिड्डी दल किसानों की फसलों पर कहर बनकर टूट पड़ते हैं और कुछ ही देर में पूरी फसल और हरियाली को चट कर जाते हैं जिसे लेकर किसान बेहद चिंतित हैं और अपने फसलों खासकर सब्जी उत्पादक बेहद चिंतित हैं।

फसल की सुरक्षा को लेकर किसान चिंतित

कबीरधाम जिला को सब्जी उत्पादकों के श्रेणी में गिना जाता है यहां बहुतायत संख्या में सब्जी का उत्पादन किया जाता है ,यदि यह टिड्डी दल जिला में प्रवेश कर जाता है तो उन्हें समय रहते भगाने में मुश्किल साबित हो सकती है क्योंकि बारिश का मौसम है और अंधेरी रात भी है ऐसे में न तो किसान अपने खेतों और बॉडी पर पहुंच पाएंगे ना ही प्रशासनिक अमला इनसे निपटने के लिए वहां मौजूद होगा ऐसे में किसान का चिंतित होना लाजिमी हैं

Updated : 16 Jun 2020 4:11 PM GMT
Next Story
Share it
Top