Top
Home > नक्सली > महेंद्र कर्मा के पीएसओ के एके 47 का तो पता चल गया, पर क्या कारतूस सप्लायरों तक पहुंच पाएगी पुलिस!

महेंद्र कर्मा के पीएसओ के एके 47 का तो पता चल गया, पर क्या कारतूस सप्लायरों तक पहुंच पाएगी पुलिस!

महेंद्र कर्मा के पीएसओ के एके 47 का तो पता चल गया, पर क्या कारतूस सप्लायरों तक पहुंच पाएगी पुलिस!
X

0 बरामद एके-47 महेंद्र कर्मा के पीएसओ का
0 गत सात मई को हुई मुठभेड़ में बरामद हुए थे हथियार

ताहिर खान /बसंत शर्मा
राजनांदगांव- छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का तांडव आए दिन देखने को मिलता है. वहीं पुलिस जवानों द्वारा नक्सलियों के तांडव पर विराम लगाने का सिलसिला भी अनवरत जारी है, पर नक्सलियों को आज पर्यन्त तक जड़ से खत्म नहीं किया जा सका है. नक्सलियों द्वारा जहां भी बड़ी वारदात को अंजाम दिया जाता है, वे वहां से हथियार लूटने में सफल साबित होते है. ऐसा ही एक मामला सामने आया था, जहां पर नक्सलियों ने अपना तांडव दिखाया और हथियार लूटकर ले गए थे.
जी हां हम बात कर रहे है वर्ष 2013 में हुए झीरम कांड की. जहां पर नक्सलियों ने झीरम घाटी में कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं की हत्या कर दी थी और कांग्रेस नेताओं के साथ चल रहे पीएसओ के हथियार भी लूटकर ले गए थे. लगभग सात साल बाद यादि 8 मई को राजनांदगांव जिले के मानपुर के परदोनी जंगल में पुलिस और नक्सली मुठभेड़ हुई और इस मुठभेड़ में चार हार्डकोर नक्सली मारे गए. जिनसे बरामद हथियारों की पहचान की गई, तो पता चला कि उनमें से एक हथियार कांग्रेस नेता महेंद्र कर्मा के पीएसओ का है.
पुलिस के लिए चुनौती

अब सवाल यह उठता है कि सात साल तक हथियार लेकर घूम रहे हार्डकोर नक्सलियों ने क्या इसका उपयोग पहली बार मानपुर के परदोनी में हुए मुठभेड़ में किया होगा. नहीं वे इस हथियार का उपयोग कई और मुठभेड़ में भी किए होंगे. नक्सलियों द्वारा लूटे गए हथियार की पहचान तो हो गई, पर क्या नक्सलियों को इस हथियार के उपयोग में आने वाले कारतूस कहां से मिलते है और इनके पीछे कौने से राज्य के लोग, दल या अपने ही राज्य के भीतरघाती जुड़े है जो उन्हें हथियार और उनके उपयोग में आने वाले कारतूस या अन्य सामान की सप्लाई कर रहे है. क्या उन तक पुलिस पहुंच पाएगी. पुलिस ने यह तो पता लगाने में सफलता हासिल की है कि एके -47 जो नक्सलियों से बरामद की गई है वह महेंद्र कर्मा के पीएसओ का है.
इस संबंध में एसी जितेंद्र शुक्ला का कहना है कि जांच चल रही है. सभी बिंदुओं को ध्यान में रखकर जांच की जा रही है.

Updated : 30 May 2020 6:29 PM GMT
Next Story
Share it
Top