Top
Home > Breaking News > ईमानदारी की मिसाल- एटीएम से निकले दूसरे के रुपए को शिक्षक ने ब्रांच मैनेजर को किया वापस।

ईमानदारी की मिसाल- एटीएम से निकले दूसरे के रुपए को शिक्षक ने ब्रांच मैनेजर को किया वापस।

ईमानदारी की मिसाल- एटीएम से निकले दूसरे के रुपए को शिक्षक ने ब्रांच मैनेजर को किया वापस।
X

शिक्षक राजेन्द्र सिंह और उनके पुत्र आलोक

ताहिर खान/ शुभांशु शुक्ला
कवर्धा/मुंगेली- भले इस युग को कलयुग कहा जाता है लेकिन आज भी ऐसे लोग इस जहां में मौजूद हैं जो इमानदारी का जीता जागता उदाहरण बने हुए हैं।ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है जिसमें एसबीआई एटीएम में पैसा निकालने गए शिक्षक को पहले से ही एटीएम में दस हज़ार फंसे हुए मिला। इमानदारी का शानदार नमूना पेश करते हुए शिक्षक ने अपने बेटे के साथ तुरंत ही स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के शाखा प्रबंधक को जाकर पैसा वापस कर दिया।
लोरमी के एसबीआई में 23 अप्रैल की दोपहर में ग्राम सारधा निवासी शिक्षक राजेंद्र सिंह अपने पुत्र आलोक सिंह के साथ कुछ रकम निकालने की गरज से एटीएम पहुंचे इससे पहले कि वे अपनी रकम निकालने के लिए कार्ड अंदर करते उससे पहले शिक्षक राजेन्द्र ने देखा कि पहले से ही किसी का पांच-पांच के अनेक नोट फंसे हुए हैं, जिसे निकालने के बाद गिनने पर पता चला कि यह 10000 रुपये थे, आसपास पिता और पुत्र दोनों ने उस पैसे के मालिक की तलाश की,जब कहीं कोई नहीं दिखा तो ईमानदारी की मिसाल पेश करते हुए लोरमी के एसबीआई ब्रांच मैनेजर के पास जाकर एक आवेदन के साथ पूरे दस हज़ार रुपए वापस कर दिए साथ ही मैनेजर से यह भी इल्तिजा की गई कि जब इस पैसे का मालिक का पता चल जाए तो वह उन्हें इत्तला जरूर कर दें।

Updated : 26 April 2020 7:18 PM GMT
Next Story
Share it
Top