Top
Home > Breaking News > वनकर्मी को बंदी बनाकर किया गया मारपीट,टूटे हाथ-पैर, महिला कर्मचारी के साथ भी बदसुलूकी।

वनकर्मी को बंदी बनाकर किया गया मारपीट,टूटे हाथ-पैर, महिला कर्मचारी के साथ भी बदसुलूकी।

वनकर्मी को बंदी बनाकर किया गया मारपीट,टूटे हाथ-पैर, महिला कर्मचारी के साथ भी बदसुलूकी।
X


हमले के बाद थाने पहुचे कर्मचारी

शुभांशु शुक्ला /नीरज अग्रवाल
लोरमी- वन विभाग के कर्मचारियों पर हमले का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शिकारियों के हौसले दिन-ब-दिन बुलंद होते जा रहा हैं। ऐसा ही एक मामला फिर एक बार सामने आया है जहां ट्रेप कैमरे में हथियार के साथ शिकारियों की पूरी टीम रिकॉर्ड होने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर ले जा रही वन विभाग की टीम को ग्रामीणों ने बंदी बनाकर कर्मचारियों से बेहद मारपीट की है जिससे कई को गंभीर चोटें आई हैं।
पूरा मामला अचानकमार टाइगर रिजर्व वनपरिक्षेत्र सुरही का है, जहाँ वन्य प्राणी के गणना के लिए लगाये ट्रेप कैमरा में रिकॉर्ड पशु शिकार के उद्देश्य से निकले हथियार बन्द आरोपी के शिनाख्ती के आधार पर ग्राम निवासखार के ग्रामीणों के चार लोगो के घर छापेमारी कार्यवाही करने पर आरोपी के घर से कुल्हाड़ी, तीर धनुष व पशु अवशेष प्राप्त होने पर सामान को जप्ती बनाते हुए आरोपीयो को वन विभाग के वाहन पर बैठकर वन कार्यालय ले जा रहे थे,इसी दौरान अचानक गांव के लोग गाड़ी के पास आ धमके और वनकर्मियों को बंदी बनाकर जप्त किए गए औजार व आरोपीयो को उतारकर , वन विभाग के कर्मचारियो व अधिकारियो के मारपीट करने लगे, जिससे तीन कर्मचारी के हाथ पैर टूट गए व कुछ कर्मचारी घायल तथा गांव वालों ने महिला कर्मचारी के साथ भी बदसुलूकी के साथ उठक-बैठक भी कराने के साथ पूरे वन अमला को कई घंटो तक बंधक बनाए हुए थे, वही घायल कर्मचारी का इलाज बिलासपुर के निजी अस्पताल में चल रहा है।

मामला हुआ दर्ज

इस मामले में डीएफओ विजया कुर्रे सहित एटीआर वन अमला लोरमी थाना में एफआईआर दर्ज कराया, जहां एडिशनल एसपी सीडी तिर्की ने जांच पश्चात आरोपियो पर कड़ी कानूनन करवाई करने की बात कही है।

Updated : 3 May 2020 12:27 PM GMT
Next Story
Share it
Top