Top
Home > Breaking News > कम्युनिटी पुलिसिंग में पंडरिया पुलिस जोड़ रही है नया अध्याय,मवेशियों के लिए रोटी बैंक की हुई शुरुआत, लॉक डाउन तोड़ने वाले की स्टीकर से पहचान।

कम्युनिटी पुलिसिंग में पंडरिया पुलिस जोड़ रही है नया अध्याय,मवेशियों के लिए रोटी बैंक की हुई शुरुआत, लॉक डाउन तोड़ने वाले की स्टीकर से पहचान।

कम्युनिटी पुलिसिंग में पंडरिया पुलिस जोड़ रही है नया अध्याय,मवेशियों के लिए रोटी बैंक की हुई शुरुआत, लॉक डाउन तोड़ने वाले की स्टीकर से पहचान।
X

विजेता परिवार को प्रमाण पत्र देते हुए

ताहिर खान
कवर्धा-पंडरिया पुलिस नित नए प्रयोग के लिए इन दिनों सुर्खियों में है थाना प्रभारी के नए-नए आइडिया ने कम्युनिटी पुलिसिंग के पन्नों में एक नया अध्याय जुड़ता हुए दिख रहा हैं। 21 दिन के लॉक डाउन की घोषणा के बाद लोग अपने घरों में वक्त बिता रहे हैं और परिवार को पर्याप्त समय दे पा रहे हैं ऐसे में उन बिताए हुए परिवारिक बेहतरीन लम्हों को फोटो खींचकर पुलिस के पास भेजने पर उन्हें सर्टिफिकेट दिया जा रहा है।

मवेशियों के लिए दो रोटी बैंक

पंडरिया थाना के टीआई अनिल शर्मा ने बेजुबान मवेशी जो लॉक डाउन के चलते भूखे भटकने पर मजबूर हैं, उनके लिए रोटी बैंक की शुरुआत की है। थाना प्रभारी अनिल शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते सरकार ने 21 दिन की लॉक डाउन घोषणा के बाद बाजार, होटल व अन्य ऐसे सार्वजनिक स्थल बंद है जहां पर मवेशियों को आसानी से खाना मिल जाता था। अब बेजुबान मवेशी भूखे दर-दर भटक रहे हैं इन्हीं को देखते हुए पंडरिया में दो रोटी बैंक के शुरुआत की गई है इसके लिए गांधी चौक में एक एक डिब्बा लगाया गया है जहां सुबह छूट के दौरान लोग अपने घरों से रोटी लाकर उसमे डाल सके, यदि उस दौरान संभव नही हो पाया तो व्हाट्सएप नंबर 6266134600 जारी किया गया है जिसमें जानकारी देने के बाद पुलिस रोटी देने वाले लोगों के घरों तक पहुंचती है और वहां से रोटी या जो खाद्य सामग्री के रूप में सहयोग मिलता है उसे लाकर बेजुबान मवेशियों की भूख को मिटाने का प्रयास किया जाता है ।

मिल रही प्रशंशा

इस नेक काम की पूरे राज्य में प्रशंसा हो रही है साथ ही कई लोग इससे प्रेरित होकर अन्य जगह में भी इस तरह की पहल करने का प्रयास कर रहे हैं।

लॉक डाउन नियमों को तोड़ने वालों की हो रही स्टिकर से पहचान
अभी तक आपने फुटबॉल खेलते वक्त खिलाड़ियों को रेफरी द्वारा पहली गलती पर पीले कार्ड और गंभीर गलती पर लाल कार्ड दिखाते हुए देखा होगा लेकिन यह पहला मौका है जब पंडरिया पुलिस लॉक डाउन को तोड़ने वाले लोग जिस में खासतौर पर युवाओ की संख्या ज्यादा है उनकी गाड़ियों में पूछताछ के बाद पहली बार देखने पर पीली पट्टी और दुबारा दिखने पर लाल पट्टी लगा रहे हैं उसके बाद भी अगर लॉक डाउन का पालन नहीं किया जाता तो उन वाहन चालकों पर कड़ी कार्रवाई कानूनन हो पाएगी। छत्तीसगढ़ में पंडरिया पुलिस के द्वारा किया जा रहा बेहद अनोखा और कारगर प्रयास माना जा रहा है, यदि पूरे राज्य में इस तरह से पुलिस कार्य करती है तो निश्चित रूप से लॉक तोड़ने वालों की पहचान आसानी से हो पाएगा और उन पर करवाई भी करना संभव हो पाएगा।
पंडरिया थाना टीआई अनिल शर्मा

Updated : 6 April 2020 10:32 AM GMT
Next Story
Share it
Top