Top
Home > Breaking News > दूसरे राज्य में पढ़ रहे बच्चों की पलको में चिंता, भूपेश बघेल ने दिलाया सुरक्षा का भरोसा, गहलोत से की बात।

दूसरे राज्य में पढ़ रहे बच्चों की पलको में चिंता, भूपेश बघेल ने दिलाया सुरक्षा का भरोसा, गहलोत से की बात।

दूसरे राज्य में पढ़ रहे बच्चों की पलको में चिंता, भूपेश बघेल ने दिलाया सुरक्षा का भरोसा, गहलोत से की बात।
X



0 जानकारी देने जिला कार्यालय पहुँच रहे परिजन
0 कोटा और पुणे में सर्वाधिक बच्चे
बच्चों को लाने परिजन लगा रहे गुहार

ताहिर खान/ बसंत शर्मा
कवर्धा/राजनांदगांव- देश सहित राज्यभर में लॉक डाउन का दूसरा चरण चल रहा है, जो 3 मई तक चलेगा। जिसके चलते आम लोगों को घर से बाहर निकलने की मनाही की गई है और आवश्यक वस्तुओं की खरीदी के लिए घर से सिर्फ एक ही व्यक्ति निकले वह भी पूरी सुरक्षा के साथ। इसी के तहत प्रदेश के कई जिले सहित आसपास के अंचल के युवा विद्यार्थी अच्छी शिक्षा प्राप्त करने के लिए छत्तीसगढ़ से बाहर अन्य राज्यों में पढ़ाई कर रहे हैं। जिस में सर्वाधिक बच्चे राजस्थान के कोटा, महाराष्ट्र के पुणे और बेंगलुरु में पढ़ाई करने गए हुए है। लॉक डाउन के बाद उनकी पढ़ाई पूरी तरह से ठप पड़ी हुई है और वह अब अपने घर आना चाहते हैं । लेकिन लॉक डाउन होने के कारण वह घर नहीं आ पा रहे हैं इसी बीच एक खबर निकल कर आई है कि छत्तीसगढ़ में रहने वाले ऐसे विद्यार्थी जो बाहर पढ़ाई करने गए हैं । उनकी सूचना दी जाए । इस खबर को देखकर जिले सहित अंचल के परिजन कलेक्टर व एसडीएम ऑफिस में पहुंच रहे हैं और अपने बच्चों की जानकारी दे रहे हैं कि वे कहां शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं और किस हॉस्टल या किस परिजन के घर में रुके हुए हैं । इस जानकारी के बाद प्रशासन उन्हें लॉक डाउन के दौरान हो रही समस्याओं से निजात दिला पाएगा।
कोटा (राजस्थान) में अध्ययन कर रहे।

भूपेश बघेल ने की गहलोत से बात

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि बच्चों की व्यवस्था को लेकर आज राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी से बात की है।उन्हीने आश्वस्त किया है कि कोटा में रह रहे बच्चों को लेकर किसी भी प्रकार की चिंता करने की जरूरत नहीं है। सभी बच्चों के लिए राजस्थान सरकार द्वारा सभी आवश्यक व्यवस्था कोटा में ही सुनिश्चित की जा रही है।

Updated : 18 April 2020 2:51 PM GMT
Next Story
Share it
Top