Top
Home > Breaking News > कबीरधाम के वनांचल क्षेत्र में पहुंचा हाथियों का दल, ग्रामीणों के साथ वन विभाग की बढ़ी चिंता, हाथियों की सुरक्षा पर वन विभाग मौन।

कबीरधाम के वनांचल क्षेत्र में पहुंचा हाथियों का दल, ग्रामीणों के साथ वन विभाग की बढ़ी चिंता, हाथियों की सुरक्षा पर वन विभाग मौन।

कबीरधाम के वनांचल क्षेत्र में पहुंचा हाथियों का दल, ग्रामीणों के साथ वन विभाग की बढ़ी चिंता, हाथियों की सुरक्षा पर वन विभाग मौन।
X


ताहिर खान
कवर्धा- पंडरिया पूर्व वन परिक्षेत्र अंतर्गत कोदवा सर्किल के अजवाईनबाह बीट में लगभग 12 से अधिक जंगली हाथियों का झुंड पहुचने की ख़बर आ रही है। इस ग्रुप में तीन बच्चे भी शामिल हैं।
यह इलाका प्रदेश का सीमावर्ती क्षेत्र है तथा एक ओर कान्हा राष्ट्रीय उद्यान और दूसरी ओर अचानकमार टाइगर रिज़र्व को जोड़ने वाला कॉरिडोर भी समझा जाता है।

वाइल्ड लाइफ एक्सपर्ट मंसूर खान ने बताया की इस हाथी के दल में कुल 12 सदस्य हैं जिसमें 6 मादाएं और 3 बच्चे शामिल हैं, जो कटघोरा वनांचल क्षेत्र से निकलकर अचानकमार पहुंचे हुए थे। यह दल रेलवे क्रॉसिंग से लगातार ट्रेन गुजरने के चलते अचानकमार से ही वापस हो जाते थे लेकिन लॉकडाउन के चलते ट्रेनों की आवाजाही भी बंद है और पटरी में सुनसान देखकर यह हाथी का दल उसे पार कर अब कबीरधाम जिले के पंडरिया ब्लाक के जंगलों में पहुंच चुका है और यह लगातार चलते हुए एक-दो दिनों में चिल्फी होते हुए कान्हा शिफ्ट होने की संभावना है।
मंसूर खान, वाइल्ड लाइफ एक्सपर्ट

हाथियों के सुरक्षा के लिए क्या करें पढ़ें इस पाम्पलेट में
हाथियों के बचाव के लिए किन बातों को ध्यान में रखना होता है इस पाम्पलेट में सिलसिलेवार दिया गया है हाथियों का दल इंसानों को तभी टारगेट करता है, जब उन्हें मारा जाए या उनके रास्ते में रोड़ा अटकाया जाए फिलहाल हांथी गॉवों की ओर बढ़ रहे है। वन विभाग हाथियों तक पहुचने की कोशिश कर रहा है।

Updated : 27 March 2020 12:39 PM GMT
Next Story
Share it
Top