Top
Home > मुद्दा > पटवारियों ने खोला मोर्चा, लंबित मांगों को लेकर उतरे सड़क में, संघ ने दिया एक दिवसीय धरना।

पटवारियों ने खोला मोर्चा, लंबित मांगों को लेकर उतरे सड़क में, संघ ने दिया एक दिवसीय धरना।

पटवारियों ने खोला मोर्चा, लंबित मांगों को लेकर उतरे सड़क में, संघ ने दिया एक दिवसीय धरना।
X

0 राजस्व पटवारी संघ बैनर के तले हुआ प्रदर्शन।

ताहिर खान

कवर्धा- जिन पटवारियों के कंधे पर शहर से लेकर गांव के कोने-कोने तक की जमीन और राजस्व की जिम्मेदारी रहती है, आज पटवारियों ने जिला पटवारी संघ के बैनर तले अपने विभिन्न मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने पर मजबूर हो गए हैं, हर प्रशासनिक काम में पटवारियों को शामिल किया जाता है, छोटे से लेकर बड़े आयोजनों में अपनी भूमिका को बेहतर ढंग से अंजाम देते हैं, बावजूद इसके पटवारियों के अनेक मांगों को अब तक पूरा नहीं किया गया है, जिसके चलते पटवारी संघ सड़क पर उतरते हुए पैदल मार्च कर एक दिवसीय धरना दिया और अपनी जायज़ लंबित मांगों को पूरा करने के लिए ज्ञापन भी सौंपा। राजस्व पटवारी संघ छत्तीसगढ़ जिला शाखा कबीरधाम द्वारा 1 दिसम्बर को प्रांतीय आव्हान पर 9 सूत्रीय मांगो को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन राजमहल चौक कवर्धा में किया गया।

ज्ञात हो कि राजस्व पटवारी संघ छत्तीसगढ़ अपने विभिन्न मांगों को लेकर तीन चरणों मे आंदोलन कर रही है।पहले चरण के तहत 1 दिसंबर को एक दिवसीय धरना प्रदर्शन जिला मुख्यालय में, दूसरे चरण में 2 दिसम्बर से 13 दिसम्बर तक काली पट्टी लगाकर कार्य एवं अंतिम चरण में यदि मांगो पर उचित पहल नही किया गया तो अनिश्चितकालीन हड़ताल किया जाएगा।

आज एक दिवसीय हड़ताल में जिले के सभी पटवारी उपस्थित रहे।प्रांतीय सह सचिव सतीश चंद्राकर, प्रांतीय कोषाध्यक्ष निर्मल साहू, जिला अध्यक्ष कबीरधाम गेंदुराम मरावी, एवं जिला सचिव मनोज बाँधेकर के अगुवाई में जिले के सभी पटवारी अपने मांगो को लेकर धरना प्रदर्शन हेतु उपस्थित रहे। पटवारियों का विभिन्न मांगो को लेकर किये जा रहे हडताल का समर्थन कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के जिला संयोजक दिलीप चंद्रवंशी एंव पदाधिकारियों द्वारा धरना स्थल मे उपस्थित होकर किया गया । जिसमें जिला के अधिकतर पटवारी उपस्थित रहें।


प्रमुख मांगे :-

0 भुइँया की समस्याओं को दूर करते हुये भुइँया संचालन हेतु संसाधन की मांग।

0 वरिष्ठता के आधार पर पदोन्नति ,

0 विभागीय चांज बिना एफ आई आर दर्ज न हो।

0 विभिन्न भत्तो मे बढोतरी।

0 वेतन विसंगति दूर करना आदि।




Updated : 2020-12-01T20:32:25+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top