Top
Home > खास खबर > नारायणपुर पुलिस की विशेष पहल: सुना गोठ-अबुझमाड के संगवारी और एक्सप्लोरिंग अबुझमाड- द लार्जेस्ट अनसर्वेड एरिया आफ इंडिया का विमोचन।

नारायणपुर पुलिस की विशेष पहल: ''सुना गोठ''-अबुझमाड के संगवारी और ''एक्सप्लोरिंग अबुझमाड''- द लार्जेस्ट अनसर्वेड एरिया आफ इंडिया का विमोचन।

नारायणपुर पुलिस की विशेष पहल: सुना गोठ-अबुझमाड के संगवारी और एक्सप्लोरिंग अबुझमाड- द लार्जेस्ट अनसर्वेड एरिया आफ इंडिया का विमोचन।
X

0 नक्सलमुक्त और वैश्विक पर्यटन की ओर अग्रसर अबुझमाड।

ताहिर खान

नारायणपुर - पुलिस नक्सलवाद की खात्मा के लिए शांति, प्रेम, भाईचारा के साथ हल्बी, गोंडी और छत्तीसगढ़ी गीत के साथ डाक्यूमेंट्री के माध्यम से उन्हें समाज की मुख्यधारा में जोडने के लिए अपना सराहनीय प्रयास कर रहा है। नारायपुर के पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग इसमें स्वयं व्यक्तिगत रूप से अपना सक्रिय भूमिका अदा कर रहे हैं, इस कार्य में उनके साथ पुलिस के जवान और स्थानीय युवा अपने जिम्मेदारियों का बखुबी निर्वहन कर रहे हैं। श्री गर्ग का मानना है कि नक्सलवाद के खात्मा के लिए जहां पुलिस बल और सशस्त्र बल के जवानों की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है वहीं नक्सलियों के सोये हुए आत्मा को जगाने के लिए उनमें सोचने समझने की शक्ति की संचार करना भी आवश्यक है इसलिए गीतों और डाक्यूमेंट्री के माध्यम से जागरूकता लाने का प्रयास किया जा रहा है। जिला पुलिस के कुछ जवान अपने ड्यिूटी के अतिरिक्त समय में गीत, शार्ट फिल्म और डाक्यूमेंट्री तैयार करने का काम कर रहे है।

"एक्सप्लोरिंग अबुझमाड'' - द लार्जेस्ट अनसर्वेड एरिया आफ इंडिया का विमोचन- राज्योत्सव के उपलक्ष्य में सुश्री जागृति डी के निर्देशन और मोहित गर्ग, पुलिस अधीक्षक नारायणपुर के संकल्पना में तैयार डाक्यूमेंट्री ''एक्सप्लोरिंग अबुझमाड'' - द लार्जेस्ट अनसर्वेड एरिया आफ इंडिया का विमोचन चंदन कश्यप, विधायक, नारायणपुर द्वारा किया गया। इस डाक्यूमेंट्री के माध्यम से जनजातीय जीवन के सुंदरता जिसमें खासकर मारिया, मुरिया, गोड और हल्बा के परम्पराओं, संस्कृति और नैतिक मूल्यों को बखुबी से दिखाया गया है। इसके अंतर्गत जहां एक ओर नारायणपुर में लगने वाले हाट बाजार, मुर्गा लडाई और यहां के आम जन जीवन पर आधारित स्कील्स को दिखाया गया है तो वहीं नक्सल अभियान में तैनात जवानों के कार्य पद्धिति और दिनचर्या को भी दिखाने का प्रयास किया गया है। बस्तर संभाग में अपने औषधी गुणों के लिए प्रचलित खाद्य एवं पेय पदार्थ जैसे चापडा चटनी और सल्फी ताडी को भी दिखाया गया है। पुलिस प्रशासन के विशेष योगदान से नारायणपुर अब उन्नत और विकसित हो रहा है, कुछ दशकों पूर्व सडक, स्कूल और स्वास्थ्य के मामले में सबसे पिछडा नारायणपुर अब अपने प्राकृतिक सौन्दर्य, सैकडों पर्वत श्रृंखला, नदियों और दर्जनों झरना को पर्यटन के स्वरूप को विश्व पटल में ख्याति दिलाने तथा पर्यटकों को भयमुक्त माहौल देने की ओर अग्रसर है, यह डाक्यूमेंट्री ट्रेवलिंग गाईड के रूप में भी तैयार किया गया है।

डाक्यूमेंट्री के माध्यम से अबुझमाड के बालकों और युवाओं के सर्वांगीण विकास के लिए दृढ़ संकल्पित और कार्यरत् संस्था विवेकानंद आश्रम के प्रयास और सफलताओं को भी दिखाया गया है, उल्लेखनीय है कि यह संस्था अबुझमाड के बालकों और युवाओं को निःशूल्क शिक्षा और स्कील्स देने के साथ ही अखिल भारतीय स्तर पर युवाओं को खेल में परचम लहराने में योगदान दे रही है।

कोरोना फाईटर्स का सम्मान

नारायणपुर जिला में कोरोना संक्रमण के प्रभाव को कम करने में महत्वपूर्ण योगदान निभाने वाले नारायपुर पुलिस और करूणा फाउण्डेशन को चंदन कश्यप, माननीय विधायक, नारायणपुर द्वारा अवार्ड प्रदान किया गया। यह सम्मान अधिकारी ब्रदर्स इंटरप्राईजेज के द्वारा गवर्नेंश नाव के तहत् इंडिया पुलिस अवार्ड 2020 के रूप में दी गई है। करूणा फाउण्डेशन में नारायपुर शहर के गणमान्य नागरिक और युवा जुडे हुए हैं, सबसे खास बात यह है कि करूणा फाउण्डेशन ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उल्लेखनीय है कि अत्यंत सीमित संसाधनों के बावजूद कोरोना महामारी के खिलाफ अत्यंत सजगता से लडते हुए महामारी के प्रभाव को कम करने में सफल होने के फलस्वरूप हाल ही में नारायणपुर पुलिस को स्काॅच आर्डर आफ मेरिट के तहत् 30 अक्टूबर को अखिल भारतीय स्तर पर SKOCH Award से सम्मानित किया गया है।

''सुना गोठ'' - अबुझमाड के संगवारी एल्बम नारायपुर पुलिस के जवानों और राकेट डांस क्रु द्वारा संयुक्त रूप से तैयार किया गया है,इस एल्बम के गाने हल्बी, गोंडी और छत्तीसगढ़ी बोली में रिकार्ड किये गये हैं। सुना गोठ आडियो एल्बम में कुल 05 गाने हैं ये गीत (01) करा समर्पण - हल्बी में (02) सुना काय दादा दीदी - हल्बी में (03) प्रशासन करे दे सुरक्षा - हल्बी में (04) वाय निमा वाय बाबा - गोंडी में और (05) बस्तर के माटी महान - छत्तीसगढी में रिकार्डेड है। उल्लेखनीय है कि ''करा समर्पण'' हल्बी गीत का विडियो वर्जन अभी हाल ही में रिलिज किया गया है, शेष गाने का विडियो वर्जन की रिकार्डिग चल रही है।




Updated : 1 Nov 2020 1:28 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top