Top
Home > खास खबर > देश मे नही विदेशों में भी सजेंगे छत्तीसगढ़ के गोबर से बने दिए और वंदनवार, त्यौहार में डेकोरेटिव आइटम्स से सजेगा घर आंगन।

देश मे नही विदेशों में भी सजेंगे छत्तीसगढ़ के गोबर से बने दिए और वंदनवार, त्यौहार में डेकोरेटिव आइटम्स से सजेगा घर आंगन।

देश मे नही विदेशों में भी सजेंगे छत्तीसगढ़ के गोबर से बने दिए और वंदनवार, त्यौहार में डेकोरेटिव आइटम्स से सजेगा घर आंगन।
X

0 गाँव के साथ साथ अब शहरों में महिलाएं बना रही हैं गोबर से विभिन्न सामग्रियां।

ताहिर खान

दुर्ग-जिले के बने गोबर के दिए और वंदनवार अब विदेश में भी पहुंचने लगे हैं।भिलाई की महिलाओं द्वारा निर्मित गोबर से बनी सजावटी सामग्री को लंदन से भी ख़रीददार मिले हैं। इतना ही नहीं लखनऊ, महाराष्ट्र के मुंबई, अकोला, पंजाब, उत्तराखंड, रायपुर, राजनांदगांव ,कोरबा से भी आर्डर मिला है।उड़ान नई दिशा संस्था की श्रीमती निधि चन्द्राकर ने बताया आज ही उन्होंने लंदन भेजने के लिए दियों ,वंदनवार, वाल हैंगिंग की डिलीवरी दी है।रायपुर से भी उनसे संपर्क किया उनके बेटे लंदन में रहते हैं जब उन्होंने देखा कि गोबर से इतनी सुंदर वस्तुएं बनाई जा रही हैं तो क्यों न उनको को भेजें। ताकि देश से मीलों दूर रहकर जब वहाँ बसाए घर आंगन में गोबर के दिए रोशन होंगे तो अपनी संस्कृति से जुड़ाव भी महसूस होगा।

कर रहे नए नए प्रयोग

भिलाई की उड़ान नई दिशा की महिलाओं ने गोबर से वंदनवार ,डेकोरेटिव दिए, वाल हैंगिंग,शुभ लाभ आदि बनाए हैं। एक नया प्रयोग भी किया है इन सामग्रियों में मौसमी सब्ज़ियों और फूलों के बीज भी डाले गए हैं ताकि उपयोग के बाद इनको गमले में डालकर पौधे उगाए जा सकें।दियों का मुल्य 2 रुपये, डेकोरेटिव दियों का मूल्य 50 से 150 रुपए , वंदनवार 150 से 250 रुपए और शुभ लाभ व लटकन 100 रुपए में उपलब्ध है।करीब 250 महिलाएं मिलकर ये काम कर रही हैं।





Updated : 11 Oct 2020 2:39 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top