Your Voice, बेबाक़, निष्पक्ष पत्रकारिता का ध्वजवाहक

असम से लौटे मुख्यमंत्री,घायल जवानों से मिले,कहा- नक्सली अपनी आखिरी लड़ाई लड़ रहे हैं।

0 हमारे जवानों के हौसलें बुलंद हैं, नक्सलियों के प्रभाव क्षेत्र में कैम्प स्थापित करने का कार्य जारी रहेगा।

ताहिर खान
रायपुर-मुख्यमंत्री भूपेश बघेल असम से वापस लौटते ही बीजापुर में हुए नक्सली हमले में घायल जवानों से मिलने के लिए रामकृष्ण हॉस्पिटल पहुंचे और हालचाल जाना। वहीं डॉक्टरों को बेहतर इलाज करने की हिदायत भी दी। नक्सली हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि ने कहा कि नक्सलियों के विरूद्ध सुरक्षा बलों के आपरेशन जारी रहेंगे, नक्सलियों के प्रभाव क्षेत्र में कैम्पों की स्थापना का कार्य तेजी से किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने आज रायपुर वापस लौटने के बाद स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट पर राज्य के वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों से बीजापुर में पुलिस-नक्सल मुठभेड़ की घटना के संबंध में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि लड़ाई में हमारे जवानों की शहादत हुई है, लेकिन वे बहादुरी से लड़े हैं। मैं उनकी शहादत को नमन करता हूं।
नक्सलियों के शव बिखरे थे!
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे सुरक्षा बल बुलंद हौसलों के साथ नक्सलियों से उनकी मांद में घुसकर लड़ाई लड़ रहे हैं। बीजापुर में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच हुई इस लड़ाई में नक्सलियों का काफी नुकसान हुआ है। हमें जानकारी मिली है कि नक्सली 4 ट्रेक्टर में भरकर घटना स्थल से मृत एवं घायल नक्सलियों को ले गए। उन्होंने कहा कि 4 घंटे तक चली इस लड़ाई के दौरान सुरक्षा बलों के हौसलें बुलंद थे और उन्होंने नक्सलियों के प्रभाव वाले क्षेत्र में अंदर घुसकर बहादुरी से लड़ाई लड़ी।
उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का प्रभाव लगातार सिमट रहा है और उनका असर अब केवल एक बहुत सीमित क्षेत्र में रह गया है। इससे बौखलाकर वो अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए इस तरह की घटनाएं कर रहे हैं। हम उनके प्रभाव क्षेत्र में लगातार पुलिस कैम्प स्थापित कर रहे हैं और आगे भी यह कार्य जारी रखेंगे।

You may have missed