Your Voice, बेबाक़, निष्पक्ष पत्रकारिता का ध्वजवाहक

होली में हल्दी,गुलाब,गेंदा जैसे प्राकृतिक चीजो से बने हर्बल गुलाल से सजेगा चेहरा।

0 महिला स्व.सहायता समूह ने किया हर्बल गुलाल।

0 कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने जिला कार्यालय के सभाकक्ष में किया हर्बल गुलाल का शुभारंभ

ताहिर खान
कवर्धा- पिछले वर्ष की भांति इस वर्ष भी होली का रंग हर्बल रंगों से चेहरा सजा हुआ दिखेगा।  जिले में इस बार सभी अधिकारी और कर्मचारी भोरमदेव हर्बल गुलाल से होली खेंलेगे। इस भोरमदेव हर्बल गुलाल को जिले की महिला स्वसहायता समूह ने अलग-अलग आकर्षक रंगों में तैयार किया है। इस समूह ने आज कलेक्टर कार्यालय और जिला पंचायत कार्यालय में अपनी विक्रय के लिए भोरमदेव हर्बल गुलाल की दुकान भी लगाई है। कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा, जिला पंचायत सीईओ विजय दयाराम एवं डीएफओ दिलराज प्रभाकर सहित समस्त अधिकारियों ने नगद राशि भुगतान कर भोरमदेव हर्बल गुलाल की पैकेट खरीदा है। कलेक्टर श्री शर्मा ने जिले के सभी अधिकारी और कर्मचारियों को हर्बल गुलाल का बढ़ावा देते हुए गुलाल खरीदी के लिए कहा है। महिला स्व सहायता समूह की सदस्य ने बताया कि आज एक दिन में लगभग 8 हजार रूपए का हर्बल गुलाल की बिक्री हुई है। इस दौरान डिप्टी कलेक्टर  संदीप ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर अनिल कुमार सिदार, इंद्रजीत बर्मन, एसडीएम विनय सोनी, प्रकाश टंडन, दिलेराम डाहिरे,  विनय कश्यप, श्रीमती रेखा चंद्रा सहित समस्त अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।
जिले के विकासखण्ड बोड़ला के ग्राम राजानवागांव के जय गंगा मईया महिला स्व.सहायता समूह द्वारा होली त्योहार को देखते हुए हर्बल गुलाल तैयार किया गया है। यह गुलाल हल्दी, गेंदा, गुलाब, चुकून्दर, अनार जैसे प्राकृतिक पुष्प एवं फलों  के रस से बने है। यह पूर्णतः जैविक होने के साथ-साथ यह स्वास्थ्य और त्वाचा के लिए लाभकारी है। जय गंगा मईया समूह के सदस्यों ने बताया कि इस गुलाल का स्वास्थ्य पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है और साथ में त्वचा को यह ठंडक प्रदान करता है। केमीकल युक्त गुलालों के विपरित यह हर्बल गुलाल त्वचा एवं बालों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाता है और आंखो में जलन होने से बचाता है। विगत कई दिनों से समूह कि महिलाएं फूल आदि इकट्ठा कर इसे तैयार करने के कार्य मे लगी थी जो अब बाजार के लिए तैयार है। अलग-अलग आकर्षक रंगों में उपलब्ध हर्बल गुलाल 250, 300 ग्राम के पैकेट में उपलब्ध है जिसमें 100-100 ग्राम के तीन अलग-अलग रंगों में उपलब्ध हैं जिसमे लाल, पीला, हरा जैसे आकर्षक रंगों के हर्बल गुलाल समूह ने तैयार किया है। इस समुह ने एक दिन में लगभग 8 हजार के गुलाब बेच लिया है।

कलेक्ट्रेट परिसर, जिला पंचायत परिसर मे होगा विक्रय


मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत  विजय दयाराम के. ने बताया कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान के तहत समूह का गठन किया गया है। समूह द्वारा हर्बल गुलाल विभिन्न फूलों एवं फलो के रस से तैयार किया जा रहा है। इन फूल एवं फलों की आपूर्ति बाबा भोरमदेव के मंदिर एवं नवधा रामायण के आयोजनों में चढ़ने वाले फूलो से हो रहा जय मां गंगा मईया महिला स्व.सहायता समूह में 10 सदस्य कार्य कर रहे है और इन्होंने अब तक 75 किलो हर्बल गुलाल बना लिया है। विगत कई दिनों से हर्बल गुलाल बनाने का काम किया जा रहा था जो अब अंतिम रूप में तैयार होकर जिले के 3 स्थानों में विक्रय के लिए उपलब्ध है। कलेक्ट्रेट परिसर, जिला पंचायत परिसर मे विक्रय करने के लिए समूह की महिलाओ ने अपना स्टॉल लगाया है। जिला पंचायत एवं कलेक्ट्रेट में इस गुलाल को लोगों ने खुब पसंद किया जा रहा है।

हर्बल गुलाल हांथो में लिए अधिकारी,कर्मचारी

You may have missed